गुलाबी होठों पे लंड | Nonveg Story | Sexy Porn Story In Hindi 2021

गुलाबी होठों पे लंड | Nonveg Story

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम अमनहै। आज मैं आपको अपनी असली कहानी बताऊंगा। बात उन दिनों की है जब मैंने नई बातें करना शुरू किया था। तब मेरी एक नेट फ्रेंड थी, उसका नाम निदा था, जो हैदराबाद में रहती है। मैं उसके साथ रोज चैट करता था और चैट करते समय मुझे नहीं पता कि हमें एक-दूसरे की बातें कब पता चलीं। फिर उसने मुझसे कहा कि उसे सेक्स पसंद है।

Nonveg story

तो एक दिन उनसे मिलने हैदराबाद गए। तो फिर उसने एक प्रोग्राम बनाया और फिर हम दोनों उसके दोस्त के घर गए, वहाँ उसका पहले से एक दोस्त थी, उसने उसका नाम रानी बताया। फिर हम कुछ देर बात करने के बाद दूसरे कमरे में गए, उस कमरे से बहुत अच्छी महक आ रही थी। Nonveg Story

अब रानी हम दोनों को बाहर से बंद करके चली गई थी। अब घर में केवल निदा और मैं ही थे। फिर निदा मेरे पास आई और कहने लगी कि कुछ ऐसा करो कि मैं तुम्हें जिंदगी भर याद रखूं। तब मैंने बसे बाहो में ले लिया और उसके होठों पर चूमने शुरू कर दिया, निदा एक बहुत नरम लड़की थी, लेकिन बहुत सेक्सी, पंजाबी लड़कियों जैसी सेक्सी होती है, उसी तरह निदा बिल्कुल मस्त थी।

फिर मैंने उसके बूब्स पर हाथ रखा, फिर उसके मुंह से सिसकियां निकलने लगीं. फिर मैंने उसके दोनों स्तन दबाये और शुरू फिर जैसे ही मैंने अपने पैर का अंगूठा उसकी चूत पर रखा वो जोर-जोर से सिसकने लगी। अब वह आजाद थी, अब उसकी हालत खराब हो चुकी थी। Nonveg Story

फिर जब मैं उसकी चूत को चूसने लगा और उसकी चूत में एक उँगली डालने लगा। तो उसे तकलीफ होने लगी और उसने कहा कि प्लीज मेरे हाथ खोल दो। फिर मैंने कहा कि अब नहीं डार्लिंग और फिर मैंने उसे खड़ा कर दिया और उसे अपने लंड के पास बैठाया और अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और उसको लंड बहुत चुसवाया।

फिर मेरे लंड ने उसके स्तनों की मालिश की और अब मेरा लंड उसे चोदने के लिए तैयार था। फिर मैंने उसकी दोनों टांगें खोल दीं और कुछ देर के लिए मेरा लंड उसकी चूत पर घूमता रहा। अब वो मेरे लंड को अंदर ले जाने के लिए उछल-कूद कर रही थी. फिर मैंने धीरे से अपना लंड उसकी चूत में डालना शुरू किया, फिर वो दर्द से कराहने लगी।


अब मैं अपना लंड वापस लेने ही वाला था। फिर उसने कहा कि प्लीज इसे बाहर मत निकालो, मैं इसके बिना नहीं रह सकती, प्लीज मेरी चीखें सुनो और मेरी चूत में डाल दो, फट जाए तो फटने दो, बस अपना लंड अंदर डाल दो, तुमने मुझे पागल कर दिया, अब मैं नहीं रह सकती फिर मैंने उसे उसके कंधे से पकड़ लिया और जोर से झटके से अपना लंड उसकी चूत में उतार दिया। Nonveg Story

अब उसकी आँखों से आँसू निकल रहे थे, शायद अब उसे बहुत दर्द हो रहा था और कहने लगी कि काश यह पल रुक जाता और तुम्हारा यह लंड मेरी चूत में पड़ा रहता। फिर मैं धीरे धीरे उसे चुंबन करना शुरू कर दिया और फिर मेरी गति बढ़ाने लगा।

अब उसकी सिसकियाँ पूरे कमरे में गूँजने लगीं आह, आह्ह्ह, ऊह और जोर से और जोर से, जो कुछ तुम कहोगे मैं करूंगी, तुमने मुझे अपनी दासी बना लिया है, वाह मुझे आज तक इतनी प्यास नहीं लगी। फिर मैं उसकी बातें सुनता रहा और जोर-जोर से दग्क्के मारता रहा। फिर कुछ देर बाद वह गिर गई। अब मेरा लंड आसानी से बाहर आने लगा और फिर थोड़ी देर बाद वो भी फ्री हो गया.

फिर हम दोनों ने एक दूसरे को इस तरह नग्न गले से लगा लिया। फिर थोड़ी देर बाद हमें होश आया तो वो मुस्कुराई और बोली कि तुम तो मुकम्मल साथी हो, अब मैं तुम्हें कभी नहीं भूल सकती, अब उसका पूरा बदन गुलाबी रंग का था फिर उसने कहा कि मैं आज तक इस तरह के एक शांत सेक्स नहीं किया है, काश हम शादी ले, मैं आप की तरह एक पति के साथ हर रोज चूमना चाहती हूं। Nonveg Story

फिर थोड़ी देर बाद मैंने फिर उसे चोदा। फिर, 3-4 बार चोदा क्योंकि अब यह उसके दोस्त के आने का समय आ गया है । फिर थोड़ी देर बाद उसकी दोस्त आयी और कमरे की हालत देखकर मुस्कुराने लगा और कहा कि अमन जी ने सब कुछ कर दिया, लगता है कोई बड़ी जंग हुई है, क्या तुमने मेरी दोस्त को खुश किया है? तो फिर मैंने कहा कि अपनी दोस्त से ही पूछो। तो फिर निदा ने कहा कि मेरे पास शब्द नहीं हैं वर्णन करने के लिए ।


फिर मैंने उसके दोनों हाथ उसके पीछे बांध दिए। फिर उसने कहा कि तुम क्या कर रहे हो? तो मैंने कहा बस देखते रहो, फिर वो मुस्कुराने लगी। Nonveg Story


फिर मैंने उसकी गुलाबी ब्रा को उसके कंधों से उतार दिया और उसके एक स्तन को काटने लगा। तो वह थोड़ा पागल होने लगी। फिर मैंने उसकी ब्रा उतारी और उसके गोरे-सुनहरे स्तनों को देखा, मैं देखता रहा, क्या उसके पास अद्भुत स्तन हैं। फिर मैंने उसे जमीन पर लेट कर दिया और 30 मिनट के लिए उसके स्तन चूमा और उसके स्तन पर कई कटौतियां कीं। अब वह तड़प रही थी, अब उसके मुँह से सिसकियाँ निकल रही थीं।

अब उसके स्तन गुलाबी रंग के हो गए थे। फिर मेरा हाथ उसकी चूत पर बार-बार जाता, फिर मैं उसकी चूत को ऊपर से रगड़ कर छोड़ देता। अब वो जोर जोर से सिसक रही थी और बोली कि फक बम अमन फ़ास्ट। फिर मैंने उसकी स्कर्ट उठाई और उसकी चूत को उसकी पैंटी के ऊपर से रगड़ा, तो वह बहुत गीली थी। Nonveg Story

फिर जब मैंने उसकी पैंटी उतारी तो वह पूरी तरह से भीगी हुई थी। फिर जैसे ही मैंने उसकी चूत चाटी, रस का एक बून्द उसकी चूत से बाहर आया।

फिर मैंने उसकी चूत के सिवा उसके सारे कपड़े उतार दिए और उसके गुलाबी होठों पे अपना लंड रख दिया। अब वो मस्त थी और मेरे लंड को अपने मुँह में चूसने लगी। अब मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा था और निदा की चूत मारने को तैयार था। फिर मैंने निदा की चूत पर हाथ रखा।

अब वह गर्म थी। फिर उसने कहा कि अब मैं नहीं रुक सकती, कृपया मुझे जोर से चोदो, मैं इस लंड को अपनी चूत में लेने के लिए मर रही हूँ, कृपया डाल दो, अमन, तुम जो कहोगे, मैं करूँगा। तो फिर मैंने कहा अभी थोड़ा रुको। फिर उसने अपनी दोनों टांगें खोल दीं, अ फिर मैंने अपने पैर की उंगलियों को उसकी चूत पर घुमाया।

तो वह तड़पने लगी और कहा कि तुम बहुत शरारती हो, तुम्हारे सामने नग्न पड़ी एक सुंदर चूत तुम्हारे लंड का इंतज़ार कर रही है और तुम मजे कर रहे हो, मुझ पर कुछ दया करो, मैं मर जाऊँगी।
प्लीज मुझे। अब चोद बड़ो मैं बहुत तड़प रही हूं। फिर मेने उसकी उस दिन 5 बार जमके चुदाई करी । ओर लास्ट में उसे गले से लगाया और फिर अपने शहर वापिस चला गया Nonveg Story

Leave a Comment